Tuesday, 18 May 2010



मेरी सोच को सोच कर जाने क्यों मेरे कपङों के कार्टून हंस रहे है ...क्या आप जानते है ..?

4 comments:

डॉ० कुमारेन्द्र सिंह सेंगर said...

ये कार्टून लगता है नेताओं के हैं तभी तुम्हारी सोच पर हंस रहे हैं....
अच्छा है...आशीर्वाद
जय हिन्द, जय बुन्देलखण्ड

मनोज कुमार said...

शुभकामनाएँ....!!

RAJNISH PARIHAR said...

शुभकामनाएँ....!!

अक्षिता (पाखी) said...

बहुत बढ़िया बनाया...मजेदार.
___________________
'पाखी की दुनिया' में नेवी शिप आईएनएस राणा पर एक दिन