Wednesday, 2 June 2010

इतनी  गर्मी  और  थोरा  पानी

कैसे  कटेगी  जिंदगानी........

6 comments:

दिलीप said...

jab barsega boond boond cham chham paani...
mast ho jhoom uthegi jindgaani

माधव said...

अच्छा मुद्दा

अक्षिता (पाखी) said...

इत्ते में तो मुश्किल है..सुन्दर चित्र बनाया आपने..बधाई.

Smart Indian - स्मार्ट इंडियन said...

अरे वाह! चित्र और कविता दोनों ही सुन्दर और सार्थक!

Shekhar Kumawat said...

bahut sundar photo he

achi chitra kari ki he aap ne

रावेंद्रकुमार रवि said...

बढ़िया और प्रेरक होने के कारण
चर्चा मंच पर इस पोस्ट की चर्चा
निम्नांकित शीर्षक के अंतर्गत की गई है –
इस दुनिया में सबसे न्यारे!
--
टर्र-टर्रकर मेढक गाएँ -
पेड़ लगाकर भूल न जाना!