Saturday, 28 August 2010

नदी की बात..


एक नदी की बात सुनी एक शायर से पूछ रही थी...

3 comments:

रावेंद्रकुमार रवि said...

----------------------------------------
नदी कह रही थी - "चुलबुल!
आएगी नन्ही बुलबुल!
तुमको ख़ूब हँसाएगी,
मीठे गीत सुनाएगी!"

----------------------------------------

Akshita (Pakhi) said...

खूबसूरत...पसंद आई.
_______________________
'पाखी की दुनिया' में अब सी-प्लेन में घूमने की तैयारी...

भूतनाथ said...

tyaa pooth lahi thi nadi....taayar ne tyaa dabaab diyaa.......????