Wednesday, 8 October 2008

मैं बेटियों के ब्लॉग पर.

मेरे बारे मे माँ ने "बेटियों के ब्लॉग " पर कुछ लिखा है....आप सब भी पढ़े मजा आएगा......
बेटियों की समझदारी जल्दी बढ़ती है या उनकी उम्र..यह सच में मेरे लिए एक जटिल प्रश्न है. चुलबुल आज चार साल की हो चली...लेकिन उसकी बाते..उसकी सोच... उसका लिखना...उसका याद करना... सब कुछ उसके उम्र से आगे की बातें है. सच कहू तो कभी-कभी उसे इतनी जल्दी समझदार होते देख डर भी लगता है..कि कही समय से पहले बड़ी तो नही हो रही. अपने पापा को भी कार्टून बनने में मात दे रही है...वो जब इसकी उम्र के थे तब शायद कार्टून का मतलब भी नही जानते थे. कार्टून्स के सारे कैप्शंस ख़ुद बताती है. मेरा काम होता है उसे लिखना..हलाकि अब लिखने भी लगी है..और मजाल है कि उसके बताये कैप्शंस में कुछ फेर-बदल हो जाए. स्कूल से लौटते हुए यदि आइसक्रीम लेने कि जिद हुई और यदि मैंने कोई कारण बता कर उसे खारिज कर दिया तो अगले पल उसका जवाब होगा.. अच्छा तो चलो toffy या juice ही ले लेते है..क्या माँ है न अच्छा idea.?नीचे उसके ब्लॉग का लिंक है...जब से ब्लॉग बनाया है मेरी तो फजीहत हो गई है....जब-तब यही सुनाने को मिलता है.. माँ isko ब्लॉग per डाल देना... अब डाल दिया है तो आप लोग भी फजीहत देखे.http://chulbulrashmitoons.blogspot.com/
Posted by avinash at Tuesday, October 07, 2008
8 comments

8 comments:

Amit K. Sagar said...

बहुत ही अच्छा.

"VISHAL" said...

achcha hai ,likhte rahiye

---------------Vishal

प्रदीप मानोरिया said...

बहुत अच्छा बहुत बढिया लिखते रहिये बधाई शुभकामनाएं आशीर्वाद

Sanjeet Tripathi said...

शुभकामनाओं के साथ स्वागत!

विवेक सिंह said...

वाह वाह ! क्या कहने .

DHAROHAR said...

Maan gaye Chulbuli ko. Swagat hai Chulbuli.

कुन्नू सिंह said...

बहुत बढीया है।

रोजाना जिया रोजाना मरा.. said...

MAINE AAP SE PEHLE BHI KAHA THA PHIR KEH RAHA HUN ANE WWALI PIDI HUMSE JADA SAMJHDA HOTI HAI ....IS LIYE UNKI IJAAT KARO .....AAP ACHCHA LIKH RAHI HAI BAS UHI LIKHTE JAIYE ..... BAHUT KHUB