Sunday, 25 January 2009

मछली


मछली जल की रानी है
जीवन इसका पानी है
इन्हे पकड़ा गर तो
नादानी है...........

7 comments:

Tapashwani Anand said...

बात तो आपकी बहुत सही है |

अनिल कान्त : said...

बहुत प्यारा चित्र ....

अनिल कान्त
मेरी कलम - मेरी अभिव्यक्ति

संगीता पुरी said...

सचमुच प्‍यारी है.....

Pratap said...

hello चुलबुल !!! how are you????
बेटा आपका हर शब्द प्रसंशनीय है . आप अपने शब्दों से हमें एक बहुत ही ख़ूबसूरत दुनिया में ले जाती हैं...जो हमारी जिंदगी में एक याद या एक स्वप्न की तरह रह गया है.
आप हमेशा लिखती रहो ऐसे ही....

मोहन वशिष्‍ठ said...

गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं

Arvind Mishra said...

अरे तू तो बड़ी सयानी है !

Bandmru said...

are lagti ye koi nani hai.