Thursday, 25 August 2011

bolti tasvire....

  ... क्या आप लोगो ने पहचाना.....नहीं न......अरे भाई यह में  और मेरी दोस्त कुहू है.........
   .......  ममा-पापा में और मेरा प्यारा भाई.........साईं बाबा से मिलने गए थे.....
    मेरी नींद तो अब भाई की ही नींद से जुर गयी है..जब वो सोता है तभी में भी सोती हु..
   और यह है चुलबुली आइसक्रीम.......

4 comments:

"रुनझुन" said...

सुन्दर तस्वीरें...

SPARSH said...

चुलबुल दीदी ऐसे ही थोरे न बनते हैं उसके लिए भाई के साथ उठाना, खेलना और सोना पड़ता है. अभी उसके साथ सो लोगी तो जब वह उठेगा तब उसके साथ खेलना. लेकिन आइसक्रीम तो तुम अकेले अकेले खा रही हो भाई को नहीं तो कम से कम मुझ से ही बाट लेती.

rashmi said...

@ sparsh ..tumne bilkul sahi kaha...bhai ke saath to maja bahut aa raha hai...icecream baati to thi jab tum ghar aaye the.itni jaldi bhul gaye.......

जाट देवता (संदीप पवाँर) said...

भैयादूज पर्व की हार्दिक शुभकामनाएँ।